कहानी एवं लेख

कुछ अनकहे अल्फाज

कुछ अनकहे अल्फाज

अल्फाज ही है जो अहसास से राब्ता को जोड़ता है

वो अल्फाज जो हम किसी को कह नही पाते और . हर कोई समज नही पाता कुछ रिश्ते अनकहे २ह जाते है

जो दिलो को जोड़ते है पर जिंदगी को नही हमारी जिदगी में भी बहुत कुछ ऐसे अनकहे अल्फाज होते है जो हमें नयी उम्मीद पर जिंदा रखते है की कोई उस अनकहे अल्फाज को सुने ऐसे ही कुछ अनकहे अल्फाज है इस दास्तान के ऐसा राब्ता जो कभी खत्म नही होगा । दिल का राब्ता ! वो मुकम्मल राब्ता जो जिंदगी में नये  मोड़ के साथ   वक्त के साथ आगे बढ़ती है जिंदगी ! जिंदगी की यही २ीत है हमराह कोई और हमसफर कोई और ! एक ऐसी ही दिलचस्प दास्तान की तरफ जो मुक्मल होती है या नही अपने सफर में!

इस दास्तान के सफर के दो मुसाफिर है जिनकी मंजिल  अलग है राहें भी अलग पर सफर के राह एक है !

दास्तान के राही के बारे में बताते है ! इस दास्तान के

राही रियान जो बहुत ही मन मौजी है और सब से अलग और एक तरफ है हयात जो बहुत ही खामोश मिजाज और हमेशा अपने मुस्तक बिल का सोचना बहुत ही अलग किरदार है इनका  बेहद खुबसूरत  जिस्म ऑेखे   इतनी हसी जो देखे दिवाना हो जाए इतनी ही अलग हयात ! अब बढ़ते है इनके २ाब्ता की ओर इन की मुलाकत होती है एक प्राइवेट लिमिटेड इनवेस्ट मेन एंड ब्रोकिंग कंपनी में  इंटरव्यू  दौरान होती है रियान इस कंपनी में सेल्स मेनेजर है और हयात जो वहाँ इटरव्यू के लिए आती है  ! दो अनजान राही एक दूसरे को देखते है ! इंटरव्यू मे नंबर आने पर हयात जाती है इंटरव्यू के सेकन्ड राऊड के लिए बुलाया जाता है। हयात सेकन्ड राऊड के लिए आती है यहाँ पर कोई लड़की नही होती है स्टाफ में और हयात का सिलेक्ट होना हयात के परिवार में बहन और छोटा भाई की जिम्मेदारी और माँ की जिम्मेदारी बस यही दुनिया थी हयात की ! हयात को कुछ महिने काम करते करते रियान ने हयात के काम की वजह हमेशा हयात की तारीफ और रियान पर काम का प्रेर सर  बढ़ता इस से रियान को हयात पर गुस्सा आता और एक बार रियान आता है हयात के पास आना और उस पर गुस्सा करता है पुराना डेटा माँगता है

हयात उसे डेटा देती है फिर वो हर डेटा को बारीक से देखकर चला जाता है फिर हयात अगले दिन रियान से काम से बात करती है कि आप को जो मैं ने डेटा दे २ही हूँ वो देखो आप इस में से कोई ना कोई क्लोस होगा  रियान  ने ले लिया फिर चला गया

धीरे धीरे बातों ही बातों में रियान ने हयात को लेकर जो गलतफहमिया दुर हुई ! दोनों के बीच अच्छी दोस्ती हो गई ऑफिस में  भी हयात और रियान को लेकर बातें होने लगी हयात के कानों में बाते जाते ही हयात ने रियान से बाते बंध कर दी ! रियान ने कई मैसेज भी किये पर हयात ने ना तो मेसेज देखे ना तो कोई बात की अचानक ऐसे व्यवहार से रियान को अजीब लगा कई कॉल किये फिर हयात ने कॉल उठाया बोला ” है लो रियान ने बोला क्या हुआ आप क्युॅ ऐसे रिएक्ट कर रहे हो बोलो क्या हुआ

हयात ने कॉल कट कर दिया रियान तो जैसे दुनिया ही । हिल गयी पुरी रात सोया ही नही हयात ने फिर कॉल उठा कर बोल दिया

दूर रहो आप मुझ से pls मत कॉल करो ना मैसेज pls फिर सुबह हयात को कॉल आया पहले नही उठाया फिर उठाकर डॉ टा

रियान को :why are calling me ,pls don’t call me मुझे नही पसंद कोई मेरे पीठ पीछे एसी बात करे इस लिए बोल २ही हूँ

रियान ने बोला ” क्यो लोगो की बात को दिल पर लेते हो छोड़ो  हम जानते है हम अच्छे दोस्त है और सालों बाद कोई अच्छी दोस्त मिली है और आप भी ऐसे लोगों के लिए मैं एक अच्छी दोस्त को नही छोड़ सकता और फिर आप की मर्जी  मैं एक अच्छे दोस्त की तरह हमेशा साथ रहूंगा आप को मैं हमेशा खुश देखना चाहता हूँ और मेरी गर्लफैड है ये बात ऑफिस में सब जानते है फिर भी वो ऐसी बाते कर रहे हे देखो फिर भी अगर आप नही चाहते दोस्ती रखना तो फिर आप देख लो लोगो की बात मानों आप अच्छे दोस्त की नहीं हयात ने फिर बोला ठीक पर हम नही चाहते की हमारी वजह से हमारी जॉब और परिवार को कोई परेशानी हो इस लिए ! रियान और हयात फिर वही २ाह पर गुजरते है !

खुदा अगर दोस्ती का रिश्ता न बनाता तो इंसान कभी यकीन न करता के अजनबी लोग अपनों से भी प्यारे हो सकते हैं

एक दूसरे के बिन कहे अल्फाज समझ जाना हमेशा एक दूसरे के लिए हाजिर रहना ! धीरे धीरे कुछ अनकहे अल्फाजों को

मोहब्बत से अंजान राही रियान को हयात बहुत अच्छी लगने लगी थी ! रियान को लगा मुझे ये क्या हो रहा है क्यूं अगर उनका मुझे कॉल या मेसेज या बात ना हो तो मुझे क्यु अच्छा नही लगता है ! मै क्यू उसकी इतनी फिक्र २हती है ? मैं खुश क्यो नही हूँ

रियान फिर अपने सब से अच्छे दोस्त हयात को एक बार पूछता है पता नही मुझे क्या हो गया है कुछ अच्छा नही लगता बस हमेशा किसी की फिक्र २हती है !

हयात: किसकी ? कौन है वो खुशनसीब जिसने मेरे दोस्त की नींद चैन छिन लिया मेरे दोस्त को छिन लिया!

रियान: फिर हयात से पूछता है ? क्या आप ये धर्म और जाति वाती में मानती हो

हयात: क्या हुआ ? अचानक ऐसे बोलो ,बोलो लड़की का चकर क्या?

वो कोई दूसरे धर्म की है क्या ?

रियान:Hmm शायद

हयात : तो बोलो कौन है और तुम्हारी इस गर्लफेन्ड का क्या रिया ?

कैसी है ? क्या हुआ आपको क्यों मायुस हो?

रियान: कुछ नही ठीक ही होगी वैसे मैं उसे अब बात नही करता

हयात: क्यों ? क्या हुआ?

रियान: मेरा बेकअप हो गया

हयात: कब! कैसे? क्यो? मुझे नही बताया

रियान : वो मुझ से नही मेरे पैसे से प्यार था! उसको मैं नही उसे मेरा पैसा चाहिए

हयात: क्यु मुझे नही बताया इतना सब हो गया जिंदगी में

रियान : बस ऐसे ही क्योंकि तुमने मुझे एक बार बोला था पर मैंने यकीन नही किया क्या मुँह लेकर बोलता तुम्हें

हयात का कॉल रिंग होता है ! रिंग बजती है तु ही है तु ही तो है मेरा जुनु न

कियान: आप का कॉल रिंग हो २हा है !

हयात : हाँ कोई Unknown number है

कियान: उठा लो कोई होगा तुम्हारा दिवाना

हयात: नही मेरा नही कोई दिवाना कोई प्यार नही करता मुझसे

रियान: अच्छा क्यों आप इतने अच्छे हो और खुबसूरत की हर कोई आप का दिवाना हो जाय

हयात: अच्छा पर मुझे नही चाही ये कोई  मुझे अपनी आजादी प्यारी है ना कभी ये इश्क का भूत लगे मुझे

रियान: अच्छा !

हयात का फोन फिर रिंग हुआ तु ही है तु ही तो है मेरा जुनु न ………….. तेरे बिना में जी ना सकूँ………

रियान: उठा लो फोन कोई मरा जा रहा है

हयात: हॉ बा बा हॉ उठा २ही है ! हेलो बोलते ही शामने से किसी बुजुर्ग इंसान की आवाज आई ! है लो कौन?

साम ने से आवाज आई हयात मैं तुम्हारे घर के पास वाला अंकल बोल रहा हूँ तुम्हारी मम्मी को अस्थमा अटैक आया है और मैं अभी उनको लेकर हास्पिटल आया हूँ तुम आ जाओ जल्दी ! मैं घर के पास होस्पिटल है  डॉक्टर सैयद के वहाँ हूँ!  हयात हॉ अंकल में आ रही हूॅ मम्मी का आप ध्यान रखना मैं आ रही हूँ!

हयात बहुत घबरा गई ! कियान क्या हुआ कौन था और तुम्हे क्या हुआ

क्यो इतना अचानक मजाक मस्ती का माहौल में दुःख छा गया ! हयात के आँखो से आँसू गिरने लगे ! हयात  आँसू छिपा ने के लिए कियान को बोलती है आँखो में कचरा चला गया है

रियान क्यों छिपा २ही हो क्या हुआ क्या बाला ऐसा तो आप को

हयात मुझे जाना है जल्द ही होस्पिटल जाना है !

रियान बोलो हयात  तेज दौड़ कर चली लिफ्ट की ओर गई फिर रियान ने पीछे से आवाज लगाई हयात ! हयात!

What happened? हयात फिर कैब से होस्पिटल पहुंची हयात ने कॉल किया अंकल को कौन सी जगह २रवा है मॉम को

हयात को रियान कॉल करता है पर हयात नही उठा ती है वह होस्पिटल पहुंच कर जाती है अपनी माँ के पास वह अपनी बड़ी बहन को कॉल करती है ! दी मैं होस्पिटल हूॅ मॉम को अटैक आया है और मैं अभी मॉम के पास हूँ आप आओ मुझे बिल्कुल भी अच्छा नहीं लग रहा ! हॉ बेटा  मैं आ रही हूॅ !  फिर कॉल कट होने के बाद रियान का कॉल आता है !

हयात: अपनी दबी आवाज से दर्द के आँसू के साथ हैलो बोलती है!

रियान: क्या हुआ आप रो रहे हो क्यो? बोली क्यों इतना तेज दौड़कर बिना कुछ कहें चली गई

हयात: रोती है !

रियान: क्या हुआ चुप हो जाओ और बताओ क्या हुआ

हयात: मॉम होस्पिटल में है और मैं उनके साथ हूँ

रियान: क्या हुआ मॉम को मैं आता हूँ एड्स बताओ लाइव  लोकेशन भेजो अपना

हयात: हाँ ! थिक है

रियान: जल्दी , जल्दी आता है सब काम छोड़कर सब ऑफिस में पूछते है क्या हुआ के कहॉ

पहले हयात गई रियान काम है। एक दोस्त मुसीबत में है ! आता हूँ!

रियान कॉल करता है हयात में आ गया कहाँ हो आप हयात हॉ मैं आती हूँ नीचे हो आप

रियान के पास जाती है हयात देखती है दूर से रियान को और आती है उसके पास हयात

को रियान बोलता है शांत हो जाओ कुछ नही होगा मॉम को हयात रियान को बोलती है

उनके अलावा कौन है मेरा क्या होगा ? देखो मेरा भाई ये और माँ और बहन यही दुनिया है मेरी

क्या होगा मेरे भाई का ! रियान आसूँ पोछते हुए मै हूँ ना ! आप शांत हो जाओं फिर हयात का मूड ठीक करने के लिए बोलता है

ये छोटू भाई बिल्कुल आप की तरह है देखो इसका मुँह देखकर चुप हो जाओ चलो मैं आता हूँ मम्मी के पास फिर दोनों दूर से मॉम को देखते है ! हयात को सहारा देता है उसके हाथों को सहलाता है चूप रहो लो पानी पीयो नही पीना मुझे और आँसू की धारा बढ़ने लगती है हयात रियान को लिपट कर २ोती है रियान उसे सहलाता है देखो अगर आप चुप नहीं हुए तो मैं भी रोऊगा फिर सब देख रहे है वैसे ही और देखे गें । फिर देखो कोई समझेगा मैं तुम्हें रुला २हा हूँ ! रियान की बाहों में हयात को देखकर

सारा हयात की बहन आती है वो ऊँची आवाज से चिल्लाती है हयात ! हयात

हयात फिर भाग कर सारा के गले लग जाती है अच्छा हु आ आ गये आप में आपका इंतजार कर २ही थी फिर रियान बोलता है ! नमस्ते ! मैं हयात का दोस्त हूॅ बहुत पागल है कब से मै बोल रहा हूँ चूप हो जाओं तो होई नहीं २हीं !सारा बोलती है हॉं अब माँ की फिक्र तो होगी ना ! हयात रियान से माफी मांगती है सॉरी मैं ने आपको परेशान किया और सॉरी आपको गलती से कोई तकलीफ हुई हो तो ! रियान नही कुछ नही हुई अब एक दोस्त कंधा नही देगा तो और कौन देगा! सारा हयात को डॉटते हुए तु भी ना पागल है खाम खा किसी को परेशान किया ! सारा अब मैं हूँ ना बिचारे को जाने दे

रियान नही मुझे कोई तकलीफ नही हुए चलो आप बाते करो में कुछ लेकर आता हूँ आपके लिए ठंडा कुछ कब से रो रहे हो मै हो छोटू को लेकर जाऊ सारा को पूछता है रियान हाँ ले जाओं ! रियान ले कर जाता है हयात के भाई को ! उनके जाने के बाद सारा हयात को बोलती है ये लड़का ना अच्छा नहीं है मैंने कहीं बार देखा है इसे लड़कियों के साथ और इस से तु दूर रहा कर

हयात देखो दी हम किसी को जज नहीं कर सकते ना उसके चरित्र का प्रमाण पत्र दे सकते है हर सिक्के के दो पहलु होते है

और वह जैसा भी हो मेरी बहुत इज्जत करता है और मेरे साथ वह अच्छा रहता है तो भले वो बहार कुछ भी करता हो में सिर्फ दोस्त हूँ उसकी कभी मेरे साथ उसने वैसा व्यवहार नही किया सब की अपनी जिंदगी है हमे उस को कुछ नही बोलना चाहिए फिर भी तुम्हे ऐसा लगता है तो मैं सिर्फ दोस्त है सारा फिर बोलती है छोड़ ये सब जाने दें  ध्यान रखना अपना मम्मी कहाँ है फिर रियान आता है नारियल पानी लेकर और कुछ फल लेकर चलो हयात लो ये मुझे जाना है एक मिटिंग है जरूरी अब आप ध्यान २खना अपना और कुछ काम हो तो कॉल करना ! सारा रियान पर गुस्सा करती आवाज से नहीं में हूँ तुम जाओ अब मैं हुँ देख लुंगी सब रियान फिर जाता है! वह पूरे रास्ते में हयात के बारे में सोचता है कि बहुत अच्छी लड़की है भगवान सलामत रखे उसके परिवार को हमेशा दूसरों के लिए जीती है अपना सोचती नहीं कभी इतना दर्द है इसकी जिंदगी में कम उम्र में इतनी सारी जिम्मेदारीया ! मैं उसे हमेशा खुश रखना चाहता हूँ ! फिर रियान अपनी मिटिंग में पहुंचता है

फिर कुछ दिनों बाद ऑफिस में हयात आती है! ऑफिस में आने के कुछ दिनोंं बाद ही ऑफिस का डिपार्टमेंट बेगलुर सिफ्ट होने वाला होता है जिस डिपार्टमेंट में हयात है वह मना कर देती है ! मेरे लिए परिवार जरूरी है मैं चली गई तो उनका ध्यान कौन रखेगा ! सॉरी सर मैं नही जा सकती कोई और काम यहाँ हो तो आप बोलिए मैं करूगी पर मैं नही जा सकती ! उसके बाद हयात बोलती है मैं रिजाइन कर देती हूँ अगर कुछ नही है मेरे लायक यहाँ काम तो!

रियात को हयात बताती है कि मैं जॉब छोड़ रही हूँ आप कोई जॉब देखना मेरे लिए रियान नहीं आप कहीं नही जा ओगे ! मैं बात कर के देखता हूँ ! नहीं और कुछ नही होगा हयात रहने दो आप ! हयात मैं देख लूँगी कुछ रियान बोलता है क्यों ना हम खुद का कुछ शुरू करे मतलब हयात क्या आप भी , रियान मै वैसे सोच रहा था कि कोई बिजनस पार्टनर मिले आप बनोगी हयात पर टाइम लगेंगा ना और मेरे पास वक्त नही है !

फिर कुछ वक्त के बाद हयात का आखिरी दिन ऑफिस में आने वाला था फेर वेल भी रखा गया रियान ने बीच बीच में कई कंपनीयों के इंटरव्यु करवाये पर हयात के काम नही बैठे ! फिर हयात  का आखिरी दिन आता है ऑफिस में रियान पर आता नहीं आता है पार्टी में सब हयात से पूछेते है कहाँ है रियान पर हयात को सब कॉल करने के लिए कहते है पर रियान कॉल नहीं उठाता  फिर वह ऑफिस में ही २हता है उसके बाद रियान हयात को बोलता है बस मूड थीक नहीं था इसलिए नहीं आया

फिर सब बाय और नये जिदगी की शुभकाम नायें देते है ! हयात अपनी नयी जॉब में और । जिम्मेदारी में बिजी हो गयी

हयात को वक्त नही और । रियान कहीं बार कॉल करता तो हयात बोलती मैं ऑफिस हॅू काम है मै बाद मैं कॉल करू फिर उसके बाद हयात ने कभी कॉल नही किया!

फिर 7 महिनों के बाद वह हयात को देखता है मार्केट में पर उसके कदम आगे बढ़ते बढ़ते रह जाते हैं कोई होता है साथ तो वह बस दूर से उसे निहारता है ! फिर कॉल करता है कुछ दिनों बाद हयात उठाती है कॉल हैलो कौन रियान कहता है मैम आपने एक कोर्स के लिए अप्लाई किया था ! हयात सॉरी आप बाद मैं कॉल करना अभी मैं बिजी हूँ बोलकर कॉल कट कर दिया । फिर रियान ने कॉल किया हैलो मैडम सुन लिजिए हॉ बोलो मैडम आप बोलकर रियान हँसने लगा जोर जोर से हा….. हा

हयात कौन रियान बोलता है पागल मैं रियान भूल गई  नहीं और कैसे हो? किस का नंबर है ये मेरा है मैंने अपना बिजनस शुरू किया है अच्छा है ! गुड़ चलो बाय मुझे काम है थोडा बोलकर हयात ने कॉल कट कर दिया !

हयात को फिर रियान मेसेज करता है क्या हुआ ना मेसेज ना hii , ना bye क्या है मैडम आपकी तकलीफ बोलों तुम्हे मेरी कसम अच्छा अपने भाई कि बोलो यार कुछ तो जवाब दो ! हयात कुछ नही यहाँ काम ज्यादा है बस वक्त नहीं मिलता झूठ आप झूठ बोल रहे हो बोलो और कोई हैं क्या मुझसे बात ना करने के लिए बोलता है क्या शादी कर ली है क्या ?

हयात: नही कि शादी पर आप क्यो ऐसा पूछ रहे हो!

रियान: तो मै ने कुछ टाइम पहले आपको देखा मार्केट इस लिए पूछा

हयात: वह तो मेरा बॉस था मेरी तबीयत थी क नंही थी तो मुझे चक्कर आ गये थे तो वह मुझे होस्पिटल लेकर गये थे और वह मुझे फल लेने साथ आये थे फिर मुझे घर तक छोड़ा बस और कुछ नही

रियान: अच्छा तो कर लो शादी जो कोई ध्यान रखे आपका

हयात: नहीं करनी शादी

रियान: अब बोलो मुझसे नाराज थी या मेरी वजह से आपको कोई तकलीफ बोलो क्या हुआ कहाँ गुम हो

हयात: कुछ नहीं दी को पसंद नही हमारी दोस्ती इस लिए उन्होने मना किया था!

रियान: अरे! उनको तकलीफ क्या है मुझसे ?

हयात: उनको लगाता है आप अच्छे इंसान नही हो

रियान: क्या हुआ ऐसे तो!

हयात: आपकी गर्लफेन्ड की लिस्ट यही वजह है

 रियान : अरे पर अब नही है! मुझे कोई मिल गई है जिसने मुझे बहुत बदल दिया है जिसने मुझे प्यार करना सीखाया बहुत चाहते है उसे हम जिंदगी है पर जिदगी में नही है

हयात: ओ! आपको सच्ची मोहब्बत हो गयी है ! कौन है वह खुशनसीब

रियान: है कोई जो मुझे मोटिवेट किया और मैने अपना कुछ किया

हयात: अच्छा है शादी कर लो तो फिर आपको जरूरत है आपका घर संभाले

रियान: नही हो सकती शादी मैंने आपको बताया तो था एक बार उसके बारे में कि वहीं धर्म वाली मुसीबते

हयात: अच्छा  पर आप ना नाम बताते हो ना फोटो क्या तुम्हे भूतनी से है क्या मोहब्बत

रियान: है तो इंसान ही पर उसके परिवार वाले नही मानेगें और वह परिवार प्रेमी है और मुझे नही पता वह मुझसे प्यार करती है या नहीं बस मैं तो उसे ऐसे ही मोहब्बत करना चाहता हू कोई कंडिशन ना पाने की चाहत

हयात: वाह! रे आशिक वाह

रियान : हॉ यहीं होता है सच्चा प्यार बाकी तो सब ऐसे ही मिली मतलबी कोई पैसे के लिए तो कोई ना कोई मतलब से मेरे साथ २ही कही धोखे मिले और फिर एक मेरी नही है पर मैं उसे बस खुश देखना चाहता हूँ

हयात: अच्छा है , बाय बोलकर चली गयी!

रियान हयात से बेइंतेहा मोहब्बत करने लगा था वह अगर खाना ना खाये तो वह खुद भी नही खाता था! रमजान के वक्त हयात रोजा रखे तो वह भी नहीं खाता था खाना वह मोहब्बत का रोजा रखता था उसे उसकी मासुमियत और बिना मतलब २ा ब्ता रखना मतलबी नही और उसकी अच्छाइया भा गई!

रियान हयात को पूछता है क्या तुम valentine’s day पर कहीं जा रही ही

हयात नही अब हमे कौन ले जाए हम तो अकेले है और मैं ये सब में नही मानती ना कभी मनाया !

रियान जिंदगी में सब कुछ ट्राय करना चाहिए पर कुछ बाकी नही रखना चाहिए

हयात हॉ पर जिंदगी जिम्मेदारीयों के बोझ तले रह गई कहॉ कोई डे मनाए

रियान बताओं जिंदगी की ख्वाइश अपनी बस सब ख़ुश २हे और है कुछ छोटे ख्वाब

रियान में कुछ नही जानता बस आना है दोस्त भी मना सकते है ऐसा कुछ नही है की ऐसे गर्लफेन्ड या बॉय फेन्ड ही मना सकते है ऐसा नही है दोस्त भी मना सकते है !

हयात थीक है चलो देखते है फिर अगले रियान आता है उसे मुवी और लंच साथ करते है!

फिर कुछ महिनों बाद रियान और हयात के बीच दुरी आ गई।

अचानक हयात फिर दूर चली गई रियान से कहा मुझसे दूर रहो आप pls

रियान क्या हुआ फिर आप को बस ऐसे ही

हयात कुछ मत पूछे बस अकेला छोड़ दो मुझे रियान फिर पूछता है कहाँ हो ऑफिस हूँ बोला में आता हूँ आप को फिर दौरा पड़ा रियान आता है उसकी ऑफिस वह आती नही है बस रोती है

रियान पूछता है क्या हुआ बोलो हयात फिर बोलती है यहाँ त्रास है लोंग अच्छे नही है एक है मेरा मैनेजर वह बस उसने मुझे प्रपॉज किया था और मैंने मना किया तो मुझे परेशान करता है !

रियान छोड़ो आप मेरे साथ आ जाओ मेरी कंपनी में मैं इसको देखता हूँ!

हयात पर मेरी फैमिली नहीं मानेगी ! मैं बात करता हूँ आप परेशान मत हो !

फिर वह समझाता है सारा को वह मान जाती है

फिर वह साथ काम करते है कंपनी का 1 साल पूरा होने पर रियान पार्टी रखता है!

पार्टी में रियान के आगे लड़की पीछे पीछे आती है हयात को बुरा लगता है वह गुस्से मैं एक पैक पी लेती है

रियान देखता है तो आता है ! हयात आप तो पीती नही हो फिर क्यु क्या गम हुआ छोडो मैं घर छोड़ देता हूँ आपको

हयात और पी लेती है रियान छोड़ो वह उसे बहार लेकर जाता है वह फिर सोचता है ऐसे मैं लेकर भी नही जा सकता वरना सारा तो मेरी जान लें लेंगी ! हयात उसके कंधो पर सर रखती है मुझे नींद आ रही है

रियान मत जाओं कहीं कहाँ जा रहे हो मै आता हूँ बस आप यही बैठे आता हुँ मत जाओ कभी मत जाना छोड़ कर मैं नही रह पाऊंगी रियान का हाथ पकड़ कर हयात कहती है रियान है कहीं नही जा रहा मैं बस यही हु वह उसे सहलाता है फिर अपने एक दोस्त को कॉल करता है वह रिमा आती है ओाय ! इस को क्या हुआ पी ली है और पिनी है परेशान कर रही है कि दो एक पैक

ओय क्या गम हुआ इसे अब , रियान रिमा को बोलता है लो इसे वॉशरूम लेकर जाओं शायद उल्टी हो तो हॅगओंवर कम होगा मैं कुछ लेकर आता हूँ और कुछ वरना सारा को पता चला तो मुझे मार डालेगी हयात रियान का हाथ पकड लेती है नहीं आप भी चलों , रिमा हँसती है पागल ले डिज वॉशरूम में नही आ सकता ये चलो मेरे साथ ,No आओं आप भी रियान हयात को संभालता है उसे सहारे से पकड़ता है वह इतनी मासुमियत से उसे देखती है और अपना सर रखकर सो जाती है । रियान उठाता है ओ य उठो , यार मत सो हमें घर भी जाना है वह उसे पानी देता है और दहीं मग वाता है यार आप भी ना क्यु पी यार मुझे अच्छा नही लग रहा वह उसे बस देखता है उसके हाथ को थाम कर बैठता है , वह हयात के करीब होकर भी वह उसे कुछ नही बोल पाता रियान सोचता है क्या हयात को मुझसे प्यार है वह उसके कान में पूछता है सुनो क्या मैं तुम्हें पसंद हूँ हयात कि आँखे बंध और वह अलग ही दुनिया में होती है उसे कुछ होश नही होता है फिर वह हयात को कार में बैठाकर जाने का सोचता है कि कुछ लेकर आऊं इसे ठीक करूं पर हयात उसके कंधे पर सर २खा देखकर वह उस से पूछता है मैं जाऊं वह बोलती है नही मत जाओ कहीं वह उसे इतना सुकुन से अपनी बाहों में सर २खकर सोता देख वह वहीं रहता है ओय उठोना प्लीज यार मत करो ऐसा उठोना तुम्हारी बहन वरना मेरा कत्ल कर देंगी इतने में हयात का कॉल २ींग होता है वह और क्या करू मैं इसका ऐ भगवान क्या करू मैं फिर इतने मैं रिमा आती है क्या हुआ कुछ कम हुआ नहीं यार वह उसे उठा कर २ी मा को देता है लो इस को वॉशरूम । लेकर जाओ पानी ठंडा मुँह धु लाओ और मैं करता हूँ कुछ वह उसे लेकर जाती है ठंडा पानी से मुंह धुलाकर उसे पानी ज्यादा पीने को कहती है ! वह फिर उसे रियान के पास लेकर आती है रियान उसे दहीं खिलाता है वह नहीं खाती है वह उसे गंदा है बोलकर फेंकती है वह उसे प्यार से समझाता है और अपने हाथों से खिलाता है और उसे घर छोड़ता है थोडा होश आने पर वह रियान को पूछता है आप ठीक होना कुछ हुआ तो नही ना आपको हयात नही बस नींद आ २ही है ठीक है  हम पहुँचने वाले है आपके घर ! घर जाकर सो जाना ठीक है !

अगले दिन रियान कॉल करता है कैसी है । तबीयत अब हयात ठीक हूॅ मुझे क्या होगा मैडम जो कल तुम ने मुझे परेशान किया है इसलिए पूछा हयात क्या ? कब मैंने आपको? हाँ क्या जरूरत थी पीने की

 हयात पता नही बस मन हुआ तो पी ली कभी पी नही थी इसलिए अच्छा तो ट्राय किया तो बोला होता साथ मैं पीते अच्छा साथ हाँ अब तुम्हारी इच्छा है तो ! और मैं गाँव जा रहा हूँ कल। तो आप देख लेना ऑफिस में हयात क्यूं जा रहे हो वो थोडा मॉम की तबीयत ठीक नही है इसलिए जाना जरूरी है । ठीक है

रियान के गाँव जाने पर जो सोचा नही होता वह होता है ! वह महिनों बाद आता है ना उसका कॉल लगता है हयात सोचती है क्या हुआ है ना कोई खैरो खबर है ऐसे कंपनी छोड़कर चले गये है जनाब जैसे कोई इंसतेहार दे कर भूल गये है

वह आता है तो बहुत दुःखी होता है वह हयात को कॉल कर के कहता है आओ शाम को मिलते है मूड थी क नहीं है और कुछ बात करनी है  कहाँ थे आप इतने दिन और ना कॉल ना मेसेज क्या हुआ ऐ सा तो मैं बहुत बडी मुसीबत में हुँ

मिलों फिर बताता हूँ ठीक है ! शाम को हयात आती है चाय पीने और रियान बोलता है कि मैं मर जाऊंगा नही जीना मुझे अब हयात क्या हुआ ऐसा तो बोलो रियान मे क्या बोलु अब मैं गाँव गया था तो गाँव में घर वाले है उन्होने सगाई करवा दी और मेने मना किया तो मेरे माँ ने बोला वह मर जाएगी और गाँव में इज्जत और बडे लोगों की चलती है और मेरा फोन भी मेरे पास नही था और मैंने उस लड़की को भी बोला की वह ना बोल दे पर वह उसकी फेमिली की इज्जत की बात कर रही है और मैं ने बोला मेरी फेमिली को कि मैं किसी से प्यार है पर वह नहीं मानते और वहीं जाति वाति की बाते धर्म की मैं नही मानता ये सब मैं तो बस दिल के रिश्ते को मान ता हू ना कि धर्म और जात पात मैंने उस लड़की को भी बोल दिया कि मैं से सगाई और शादी नही मानुगा चाहे में मर ही क्यु ना जा ऊ ! हयात देखो अब मैं क्या बोलु ये आपकी जिंदगी है आपको जो ठीक लगें करों या फिर फेमिली को समझाओ कि आप की परेशानी है वह बोलो नही वह नही मानेगे और मै नही २ह सकता ऐ से मैं मर जाता हूँ इस से अच्छा क्या आप भी पागल मत  बनो परिवार भी जरूरी है और समाज भी मैं नही मानता किसी को

रियान दुःखी आवाज से पूछता है आपको पता है वह लड़की कौन है ? नहीं बताओं कौन है वो । जिसके लिए मजनू बने हो बोले कौन है नही बोल सकता मैं वरना बोल देता बोलो कौन है वह बोलो आप हो . वह लड़की हयात मजाक कर रहे हो !

रियान नही सच में आप ही हो मुझे पता है ये भी कि आप को मुझसे प्यार नहीं है पर मैं बेहद महोब्बत है आप से मेरी फैमिली भी मुझे आशिक बोलने लगे है मैंने उनको बोला आपके बारे में और सच्चा आशिक हूँ तुम्हारा हर दम साथ रहूँगा ना तुम्हें पाने कि चाहत कि कभी मैं नही बोला आपको कभी पर आज दिल नही माना इसलिए और ना मेरी महोब्बत कोई जिस्समानी है ना मैं तुम्हे बस खुश देखना चाहता हूँ हमेशा में तुम्हारे साथ अपनी दुनिया बनानी है कहीं दुर जाना चाहता हूँ जहाँ ॥ सिर्फ प्यार हो ४ ना ये दुनिया के रित रीवाज हो ना कोई रोके बस खुशिया हो ! मुझे पता है आप परिवार के लिए आपको शादी नही करनी है

मैं ध्यान रखू गा उनका बोले।  क्या कभी भी मुझसे कोई फिलीग नही २ही देखो मौके बहोत मिले मैं चाहता तो आप जब मदहोश थे तब ही बोल देता पर मैं होशों हावा ज में पूछना था और ना में तुम्हें कभी दुःख होने दूँगा बोलो यार क्यूं खामोश हो

मैं पसंद नही तुम्हें या कोई तकलीफ है मुझसे मैं ने सालों से इंतेजार किया है सही वक्त का कि मैं बोलू पर हिम्मत नही हुई कभी

हयात पर ये गलत है ! हमें नही करना चाहिए आपकी फैमिली और वह लड़की उसका क्या कसूर है उसकी जिंदगी तो खराब हो जाएगी ना एक लड़की के बहुत अरमान होते है शादी को लेकर

रियान में सब कुछ छोड़ दूँगा बस आप बोलो है मुझसे मोहब्बत हयात हाँ पर ये मुमकिन नही है ना सही है परिवार को मैं नही छोड़ सकती और ना आपको ऐसा करना चाहिये! हम उन्हें दुःखी कर कर कैसे खुश २ह सकते है मैंने इसलिए कभी इजहार नही किया क्यों कि ये मोहब्बत के अंजाम से वाकिफ है हम क्या होगा अंजाम इस ईश्क का ना कभी मुकम्मल होगा

बाद में तकलीफ हो इससे अच्छा अभी तकलीफ ही सही मैं बिखर गयी तो सवर नही पाऊगी । फिर मैं पागल हो जाऊँगी अभी ना हम ने इस ईश्क की राह पर चले नही पर हम आपके साथ हमेशा रहेगे एक अच्छे दोस्त बन कर साथ रहेगे क्योकि मैं आपसे दूर नही २ह सकती बस पास रहोगे तो भी मुझे ऐसा ही लगेगा कि आप साथ हो आपकी प्यारी यादें है जी ने के लिए आपके साथ बिताए वह हर एक पल को मैं जिंदगी समझकर जी लूंगी हॉ मैं पर कभी शादी नही करूँगी बस ऐसे ही अकेले ही रहेगे आपकी यादो के सहारा है

उस वक्त के बाद 2 साल बीत गयें हयात ने शादी नही कि ना रियान से महोब्बत कम की ! रियान । सिर्फ हयात के कहने पर शादी निभा २हा है शादी तो कर ली हयात के कहने पर महोब्बत नहीं कर पाया अब भी इसकी याद और उसके कुछ तस्वीरों से जी २हा है पर खुश नही है ! दोंनों राही को मंजिल नही मिली पर कुछ अनकहे अल्फाज है दोनों के दरम्यान! “

ये सच्ची महोब्बत भी उनसे होती है जो जिंदगी होते है पर जिंदगी में नही!”

 

-Henna Pathan

Related posts
कहानी एवं लेखहिन्दी साहित्य

हम फिर मिलेंगे

जैसे ही हम उतरते हैं, मैं आपको विमान क…
Read more
कहानी एवं लेखहिन्दी साहित्य

नरसिंह चतुर्दशी

वैशाख मास शुक्लपक्ष की चतुर्दशी के…
Read more
कहानी एवं लेखहिन्दी साहित्य

छोटी छोटी मगर मोटी बाते....

हर एक व्यक्ति को अपने देश से प्यार…
Read more

0 Comments

Leave a Reply

%d bloggers like this: